Archive for February, 2011

कम्प्यूटर शिक्षक नियुक्ति में अवैध वसूली

मुंगेर, नगर प्रतिनिधि। कम्प्यूटर शिक्षक नियुक्ति के नाम पर छात्रों से अवैध वसूली कर रही एक संस्था का शुक्रवार को पर्दाफाश हुआ है। संस्था के दो पदाधिकारियों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। इसके पूर्व छात्रों ने अवैध वसूली के विरोध में हंगामा किया तो पुलिस हरकत में आई।

सदर एसडीओ महेश प्रसाद दास ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि पूरबसराय बीआरएम कॉलेज रोड स्थित बाल विकास कम्प्यूटर शिक्षा संस्थान, छात्रों से कम्प्यूटर शिक्षक नियुक्त करने के नाम पर 25-30 हजार रुपए प्रति छात्र वसूली कर रहा है। शुक्रवार को अवैध वसूली को लेकर छात्रों ने हंगामा किया। जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची बासुदेवपुर ओपी ने संस्था के निदेशक गौराडीह (भागलपुर) निवासी मनोरंजन कुमार एवं जिला समन्वयक राजीव कुमार को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। उन्होंने कहा कि छात्र आलोक कुमार, रजनीश कुमार, छात्रा नेहा कुमारी सहित दर्जनों छात्रों ने आवेदन देकर कहा है कि प्रति छात्र 25-30 हजार रुपए वसूले जा रहे थे। एसडीओ ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। इधर संस्था के निदेशक ने बताया कि उनकी संस्था सही है तथा पैसा लेकर छात्रों को लैपटॉप दिया जाता है तथा 14 हजार रुपये मानदेय पर कम्प्यूटर शिक्षक नियुक्त किया जाता है। पुलिस ने संस्था के कार्यालय को सील कर दिया है।

Source:

Advertisements

Suspension of railway projects a setback for state: Expert

The decision of railway ministry to suspend two major projects in Bihar for the time being has evoked mixed reaction from technical experts of the railways. They feel this move would cause a setback to railway efforts to develop Bihar as an ancillary zone on the pattern of Bangalore by 2012-2015.

Bihar has the potential to be developed as an ancillary zone of the railways as most of the railway components will be manufactured here in the future barring coach manufacturing factory. The railways has already pooled about Rs 55,000 crore for developing railway network in Bihar, they said.

Read the rest of this entry »

Ex-IITian starts world-class school in Bihar village

In a remote corner of the state, at Chamanpura village of Gopalganj district, a story is unfolding of unique enterprise and innovative methods in school education.

Situated about 30 km from Gopalganj, this school, known as Chaitanya Gurukul Public School, was founded in 2009 by an ex-IITian, Chandrakant Singh, now based in Bangalore. Read the rest of this entry »